प्रस्तावों का प्रयोजन

5.(1) मुख्य आयकर आयुक्तों/आयकर महानिदेशकों के स्तर पर गठित सलाहकार समिति की सिफारिशों के आधार पर लाभग्राहियों को निधि के लाभ प्रदान करने के विशिष्ट प्रस्तावों का प्रयोजन संबंधित मुख्य आयुक्तों/आयकर महानिदेशकों द्वारा कर्मचारियों के लिए किया जाएगा। संयुक्त सचिव (प्रशासन), के.प्र.क.बोर्ड., केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड अथवा किसी अन्य मंत्रालय/संगठन किन्तु आयकर विभाग से संबंधित, में कार्यरत लाभग्राहियों के प्रायोजक होंगे।

(2) मुख्य आयकर आयक्तों/आयकर महानिदेशकों/संयुक्त सचिव (प्रशासन), के.प्र.क.बो./लाभग्राही से प्राप्त प्रत्येक प्रस्ताव पर शासी निकाय को समुचित सिफारिश करने के लिए कार्यकारी समिति द्वारा विचार किया जाएगा।