निधि का प्रशासन

4.(1) निधि का प्रशासन केन्द्रीकृत रूप से एक शासी निकाय द्वारा किया जाएगा, जिसमें निम्नलिखित होंगे:-

क. अध्यक्ष, केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड संयोजक
ख. सदस्य (राजस्व) सदस्य
ग. सदस्य (कार्मिक) सदस्य
घ. वित्तिय सलाहकार/उनका नाम निर्देशिती सदस्य
ड. आयकर आयुक्त (सी एण्ड एस) केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड सदस्य
च. निदेशक (मुख्यालय) केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड सदस्य-सचिव

(2) आयकर निदेशक (डी ओ एम एस), केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड की अध्यक्षता वाली एक कार्यकारी समिति होगी तथा जिसमें शासी निकाय द्वारा यथा नामनिर्दिष्ट प्रत्येक जोन अर्थात् उत्तर दक्षिण, पूर्व पश्चिम तथा मुम्बर्इ से आयकर आयुक्त के रैंक का एक अधिकारी होगा तथा भारतीय राजस्व सेवा संघ, आयकर राजपत्रित अधिकारी संघ तथा आयकर कर्मचारी संघ से प्रत्येक से एक प्रतिनिधि भी शामिल होगा।

(3) आयकर निदेशक (डी ओ एम एस) कार्यकारी समिति का संयोजक भी होगा, जिसकी प्रत्येक तिमाही में एक बार बैठक होगी।