भारत सरकार

वित्त मंत्रालय

राजस्व विभाग

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड

 

नर्इ दिल्ली, 4 सितंबर, 2019

 

प्रेस विज्ञप्ति

 

सीबीडीटी द्वारा वर्तमान वित्त वर्ष के दौरान 26 एपीए किए गए

 

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने वर्तमान वित्त वर्ष (अप्रैल से अगस्त, 2019) के पहले 5 महीनों में 26 एपीए किए हैं। इन एपीए पर हस्ताक्षर के साथ सीबीडीटी द्वारा किए गए एपीए की कुल संख्या अब 297 हो गर्इ है जिसमें 32 बीएपीए शामिल है।

इन 26 एपीए में से 1 बीएपीए यूनार्इडेट किंगडम के साथ किया गया है और शेष 25 यूएपीए है।

इस अवधि के दौरान किए गए बीएपीए और यूएपीए अर्थव्यवस्था के विभिन्न क्षेत्रों और उप-क्षेत्रों से संबंधित है जैसे सूचना प्रौद्योगिकी, बैंकिंग, सेमीकंडक्टर, ऊर्जा, फार्मास्यूटिकल, हाइड्रोकार्बन, पब्लिशिंग, ऑटोमोबाइल आदि।

इन सभी समझौतों मे शामिल अंतर्राष्ट्रीय लेनदेन में, अन्य विषयों के साथ-साथ, निम्नलिखित को शामिल किया गया है

  •  अनुबंध विनिर्माण

  •  सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट सेवाओं का प्रावधान

  •  बैक ऑफिस इंजीनियरिंग सपोर्ट सर्विस

  •  बैक ऑफिस (आर्इटीएस) समर्थित सेवा का प्रावधान

  •  विपणन समर्थित सेवाओं का प्रावधान

  •  तकनीक और ब्रांड के प्रयोग हेतु रॉयल्टी का भुगतान

  •  व्यापार और वितरण

  •  चार्टर शुल्क का भुगतान

  •  कार्पोरेट गांरटी

  •  अंतर-समूह सेवाएं

  •  वित्तीय साधनों पर ब्याज

 

एपीए योजना की प्रगति सरकार की गैर-विरोधात्मक कर व्यवस्था को बढ़ावा देने के संकल्प को सुदृढ़ करती है। भारतीय एपीए कार्यक्रम को निष्पक्ष और पारदर्शी तरीके में जटिल स्थानांतरण मूल्यनिर्धारण संबंधी मुद्दों को संबोधित करने के लिए राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसा मिली है।

 

(सुरभि आहलूवालिया)

आयकर आयुक्त

(मीडिया व तकनीकी नीति)

आधिकारिक प्रवक्ता, सीबीडीटी