एफ. सं. 312/109/2015-ओटी

भारत सरकार

वित्त मंत्रालय

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड

(सीबीडीटी)

 

नर्इ दिल्ली, दिनांक 2 दिसंबर, 2015

 

सेवा में,

समस्त प्रधान मुख्य आयकर आयुक्त

 

महोदय

 

विषय : निर्धारण वर्ष 2013-14 तथा 2014-15 के लिए गैर-सीएएसएस मामलों में रू. 50,000/- से कम के प्रतिदाय का शीघ्र निगर्मन

 

मैं निर्देशित करता हूं कि 01.11.2015 के अनुसार निर्धारण वर्ष 2013-14 के लिए रू. 659 करोड़ के प्रतिदाय दावे सहित 2.07 लाख तथा निर्धारण वर्ष 2014-15 के लिए रू. 4,837 करोड़ सहित 12.90 लाख विवरणियां थी जो प्रतिदाय के प्रसंस्करण तथा निगर्मन के लिए अभी भी लंबित हैं। यह प्रतिदाय सीएएसएस के अंतर्गत संवीक्षा के लिए नहीं चुनी गर्इ हैं।

2. प्रतिदाय के लंबिता के पुनर्मूल्यांकन की समीक्षा के दौरान, राजस्व सचिव ने निर्देशित किया है कि सीएएसएस के संबंध में प्रतिदाय सीएएसएस के अंतर्गत नहीं चुना गया है तथा निर्धारण वर्ष 2013-14 तथा 2014-15 के लिए रू. 50,000/- से कम का प्रतिदाय हो सकता है जल्द से जल्द जारी किया जा सके। निर्धारण वर्ष 2013-14 के लिए अधिकतर प्रतिदाय को सीपीसी बेंगलूरू द्वारा एएसटी को प्रोत्साहित किया गया है। उसी प्रकार, निर्धारण वर्ष 2014-15 की कुछ विवरणी को सीपीसी द्वारा निर्धारण अधिकारी को प्रोत्साहित नहीं किया जा सके।

3. उक्त को देखते हुए, यह अनुरोध किया जाता हैं कि आपके क्षेत्र में निर्धारण अधिकारी को सलाह दी जाती है कि वह रू. 50,000/- से कम के प्रतिदाय के दावे वाले गैर-सीएएसएस मामलों में शीघ्र प्रक्रिया अपनाएं तथा प्रतिदाय को निर्धारित करें तथा जल्द से जल्द इसे निगर्मित करें।

सदस्य (राजस्व), केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड के अनुमोदन के साथ निगर्मित

 

भवदीय

 

(सलील मिश्रा)

अतिरिक्त आयुक्त (ओएसडी) (ओटीएंडडब्ल्यूटी)