एफ. नं. 225/267/2015/आर्इटीए.II

भारत सरकार

वित्त मंत्रालय

राजस्व विभाग

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड

 

नर्इ दिल्ली, 23 मर्इ, 2016

 

सेवा में,

प्रधान मुख्य आयकर आयुक्त,

अहमदाबाद, बैंगलोर, चेन्नर्इ, दिल्ली, मुंबर्इ, हैदराबाद, कोलकाता

 

महोदय,

 

विषय : कागज रहित मूल्यांकन कार्यवाही के लिए संप्रेषण आधारित र्इमेल का प्रयोग - संबंधी

 

कागज रहित मूल्यांकन/र्इ-मूल्यांकन, विभाग द्वारा चयनित मामलों के नियमित मूल्यांकनों को निष्पादित करने के दौरान कागज रहित माहौल में प्रवेश हेतु विचार किया गया है। इस संबंध में, इसके साथ प्रारंभ करने के लिए, अंतिम वित्त वर्ष के दौरान बोर्ड ने पांच शहरों अर्थात् अहमदाबाद, बैंगलोर, चेन्नर्इ, दिल्ली तथा मुंबर्इ जहां र्इ-मेल आधारित मूल्यांकन कार्यवाही की गर्इ थी तथा कर्इ मामलों का निपटान प्रतिवेदित किया गया हैं, के गैर-निगमित प्रभारों में प्रायोगिक आधार पर मूल्यांकन आधारित र्इ-मेल को कार्यान्वित करने का निर्णय लिया था।

2. कागज रहित मूल्यांकन कार्यवाही के लिए र्इ-मेल आधारित संप्रेषण योजना को कार्र्यान्वित करने के लिए हैदराबाद तथा कोलकाता नामक दो अन्य शहरों को अंतर्निविष्ट करने का निर्णय लिया गया है। इसे उन सात शहरों में मूल्यांकित समस्त करदाताओं के लिए अब खोला जाएगा जिनके मामले उनके निर्णय देते हुए कागज रहित मूल्यांकन कार्यवाही आधारित र्इ-मेल के अंतर्गत संवीक्षा किए जाने हेतु चुने जाने के लिए संवीक्षा के अंतर्गत चयनित हुआ है। हालांकि, उन मामलों में, जिसे विशाल दस्तावेजों को जमा करने की आवश्यकता है तथा र्इ-मेल के माध्यम से उसकी स्कैन प्रतियों को जमा करना संभव नहीं हो तो दस्तावेजों को वास्तविक रूप में निर्धारण अधिकारी द्वारा प्राप्त किया जा सकता है बशर्ते इसके लिए कारणो को रिकार्ड किया गया हो। यह भी अनिवार्य है कि उचित नोट-शीट पूर्ण कार्यवाही की रिकार्डिंग के लिए अनुरक्षित किया जाए।

3. पद्धति निदेशालय व्यापक र्इ-संवीक्षा के लिए समर्पित माड्यूल को विकसित करने की प्रक्रिया में है। इसके कार्यात्मक होने तक, निर्धारण अधिकारी इलैक्ट्रानिक संप्रेषण के सुरक्षित हस्तांतरण को सुनिश्चित करने के लिए प्रक्रिया, प्रारूप तथा मानकों को निर्धारित करते हुए प्रधान आयकर महानिदेशक (पद्धति) द्वारा जारी अधिसूचना सं. 2/2016 दिनांक 3 फरवरी 2016 का अनुसरण करने की सलाह दे सकते हैं। आगे, इसके डी.ओ. दिनांक 9 मर्इ, 2016 के द्वारा सदस्य (आर्इटी) द्वारा जारी निर्देश सख्ती से इसके साथ जोड़ा जा सकता है।

4. योजना को सफल बनाने के लिए, आपसे मीडिया में यथोचित प्रचार करने तथा जागरूकता फैलाने तथा आत्मविश्वास की भावना सृजित करने का अनुरोध है जिससे उक्त सात शहरों के करदाता, जिनके मामले संवीक्षा के अंतर्गत चुने गए हैं, कागज रहित मूल्यांकन कार्यवाही आधारित र्इ-मेल के अंतर्गत अंतनिर्हित करने के लिए अपना निर्णय दे सके।

5. अध्यक्ष, केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड के अनुमोदन के साथ जारी

 

भवदीय,

 

नीरज गुप्ता

डीसीआर्इटी-ओएसडी (आर्इटीए. II)

 

निम्न को प्रति : योजना के उचित क्रियान्वयन के लिए सुविधा देने हेतु सूचना तथा आवश्यक कार्यवाही के लिए प्रधान आयकर निदेशक (पद्धति)

 

नीरज गुप्ता

डीसीआर्इटी-ओएसडी (आर्इटीए. II)