एफ. सं. 1/23/सीआर्इटी (ओएसडी)/र्इ-दखिलीकरण-इलैक्ट्रानिक सत्यापन/2015-16

भारत सरकार

वित्त मंत्रालय

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड

आयकर निदेशालय (पद्धति)

 

अधिसूचना सं. 1/2016

 

नर्इ दिल्ली,

19 जनवरी, 2016

 

विषय : इलैक्ट्रानिक रूप से दखिल की गर्इ आयकर विवरणी के लिए इलैक्ट्रानिक सत्यापन कोड (र्इवीसी) - अतिरिक्त विधियां

 

आयकर नियम, 1962 के नियम 12 के उप-नियम (3) की व्याख्या निर्दिष्ट करती है कि इस उप-नियम के प्रयोजन के लिए "इलैक्ट्रानिक सत्यापन कोड" का अर्थ प्रधान आयकर महानिदेशक (पद्धति) अथवा आयकर महानिदेशक (पद्धति) द्वारा निर्दिष्ट आंकड़ा संरचना तथा मानकों के अनुसार आय की विवरणी प्रस्तुत करने वाले व्यक्ति के इलैक्ट्रानिक सत्यापन के प्रयोजन के लिए उत्सर्जित कोड है। आगे, आयकर नियम 1962 के नियम 12 के उप-नियम (4) वर्णित करता है कि प्रधान आयकर महानिदेशक (पद्धति) अथवा आयकर महानिदेशक (पद्धति) आंकडों के संचरण तथा सुरक्षित अधिकार को सुनिश्चित करने के लिए प्रक्रिया, प्रारूप तथा मानकों को निर्दिष्ट करेगा तथा उप-नियम (3) में तालिका के कॉलम (iv) में निर्दिष्ट तरीके (कागजी प्रारूप को छोड़कर) में विवरणी के प्रस्तुति के संबंध में उपयुक्त सुरक्षा, अभिलेखीय तथा सुधार नीतियों को विकसित तथा क्रियान्वित करने तथा उप-धारा (2) के परंतुक में निर्दिष्ट तरीके में लेखा-परीक्षण अथवा नोटिस की सूचना के लिए भी उत्तरदायी होगा।

2. आयकर नियम 1962 के नियम 12 के उप-नियम 3 तथा उप-नियम 4 हेतु व्याख्या के अंतर्गत केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड ('बोर्ड') द्वारा प्रत्योजित शक्तियों का प्रयोग करते हुए प्रधान आयकर महानिदेशक (पद्धति) पूर्व अधिसूचना सं. 2/2015 दिनांक 13 जुलाई 2015 के मार्फत निर्धारित ईवीसी के अतिरिक्त इलैक्ट्रानिक सत्यापन कोड के उत्सर्जन की अतिरिक्त विधियां के लिए निम्नानुसार प्रक्रिया, आंकड़ा संरचना तथा मानकों को निर्धारित करेंगे।

र्इवीसी के उत्सर्जन की अतिरिक्त विधियां :

स्थिति (5) : जहां र्इवीसी (इलैक्ट्रानिक सत्यापन कोड) र्इ-दाखिलीकरण वेबसाइट https://incometaxindiaefiling.gov.in पर बैंक विवरण देते हुए उत्सर्जित होती है

पूर्व-मान्यकृत बैंक खाता विवरण की सुविधा र्इ-दाखिलीकरण वेबसाइट अर्थात् https://incometaxindiaefiling.gov.in में प्रोफाइल सेटिग्स मैन्यू के अंतर्गत निर्धारिती हेतु मुहैया करार्इ जाएगी। निर्धारिती को निम्नलिखित बैंक विवरण मुहैया कराना होगा : 1. बैंक खाता संख्या 2 आर्इएफएससी 3. र्इ-मेल आर्इडी और 4. मोबाइल नंबर। पैन सहित निर्धारिती द्वारा मुहैया कराए गए ये विवरण तथा र्इ-दाखिलीकरण डाटाबेस के अनुसार नाम बैंक के साथ पंजीकृत करदाता के विवरण के समक्ष मान्यकृत किया जाएगा। यदि पूर्व-सत्यापन सफलतापूर्वक परिपूरित होता है तो निर्धारिती आयकर विवरणी को सत्यापित करने के दौरान "बैंक खाता विवरण का प्रयोग करते हुए र्इवीसी को उत्सर्जित" करने का विकल्प चुन सकते हैं।

उत्सर्जित र्इवीसी करदाता के र्इ-मेल आर्इडी तथा/अथवा बैंक द्वारा सत्यापित मोबाइल नंबर पर र्इ-दाखिलीकरण पोर्टल पर भेजी जाएगी।

इस सुविधा में भाग लेने वाले बैंकों की सूची https://incometaxindiaefiling.gov.in में मुहैया करार्इ जाएगी।

स्थिति (6) जहां र्इवीसी (इलैक्ट्रानिक सत्यापन कोड) सीडीएसएल/एनएसडीएल के साथ पंजीकृत डीमैट विवरणों का प्रयोग करते हुए डीमैट खाता प्रमाणीकरण के पश्चात् उत्सर्जित होती है

पूर्व-मान्यकृत डीमैट खाता विवरण की सुविधा र्इ-दाखिलीकरण वेबसाइट अर्थात् https://incometaxindiaefiling.gov.in में प्रोफाइल सेटिग्स मैन्यू के अंतर्गत निर्धारिती हेतु मुहैया करार्इ जाएगी। निर्धारिती को निम्नलिखित डीमैट खाता विवरण मुहैया कराना होगा : 1. डीमैट खाता संख्या 2. र्इ-मेल आर्इडी तथा 3. मोबाइल नंबर। पैन सहित निर्धारिती द्वारा मुहैया कराए गए ये विवरण तथा र्इ-दाखिलीकरण डाटाबेस के अनुसार नाम निक्षेपागार (सीडीएसएल/एनएसडीएल) के साथ पंजीकृत करदाता के विवरण के समक्ष मान्यकृत किया जाएगा। यदि पूर्व-सत्यापन सफलतापूर्वक परिपूरित होता है तो निर्धारिती आयकर विवरणी को सत्यापित करने के दौरान "डीमैट खाता विवरण का प्रयोग करते हुए र्इवीसी को उत्सर्जित" करने का विकल्प चुन सकते हैं।

उत्सर्जित र्इवीसी करदाता के र्इ-मेल आर्इडी तथा/अथवा सीडीएलएल/एनएसडीएल द्वारा सत्यापित मोबाइल नंबर पर र्इ-दाखिलीकरण पोर्टल पर भेजी जाएगी।

इस सुविधा में भाग लेने वाले निक्षेपागारों की सूची https://incometaxindiaefiling.gov.in में मुहैया करार्इ जाएगी।

3. अन्य शर्तें

र्इवीसी उत्सर्जन की अतिरिक्त विधि इस अधिसूचना के निगर्मन की तिथि से प्रभावी होगा। अन्य समस्त शर्तें प्रधान आयकर महानिदेशक (पद्धति), नर्इ दिल्ली द्वारा जारी अधिसूचना सं. 2/2015 दिनांक 13.07.2015 में निर्दिष्टानुसार समान रहेंगी।

4. र्इवीसी के उत्सर्जन तथा मान्यकरण की विधि तथा प्रक्रिया तथा इसका प्रयोग प्रधान आयकर महानिदेशक (पद्धति)/आयकर महानिदेशक (पद्धति) द्वारा संशेाधित, हटार्इ अथवा जोड़ी जा सकती है।

 

(निशी सिंह)

प्रधान आयकर महानिदेशक (पद्धति), केद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड

 

निम्न को प्रति :-

  1. अध्यक्ष तथा सदस्य, केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड, नार्थ ब्लॉक, नर्इ दिल्ली हेतु पीपीएस

  2. समस्त मुख्य आयकर आयुक्त/आयकर महानिदेशक - उनके क्षेत्रीय/प्रभार में समस्त कार्यालयों में वितरित करने के अनुरोध सहित

  3. केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड के संयुक्त सचिव (टीपीएल)-I व II/मीडिया समन्वयक तथा आधिकारिक प्रवक्ता

 4. आयकर महानिदेशक (आयकर)/आयकर महानिदेशक (अंकेक्षण)/आयकर महानिदेशक (सर्तकता)/ आयकर महानिदेशक (पद्धति) I,II,IV,V,/आयकर आयुक्त (ओएसडी)(पद्धति)/आयकर आयुक्त (सीपीसी)

  5. आयकर महानिदेशक (पीआर, पीपीएंडओएल)

  6. केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड के समस्त प्रभाग

  7. भारतीय सनदी लेखाकार संस्थान, आर्इपी एस्टेट, नर्इ दिल्ली

  8. वेबसाइट पर चस्पा करने के लिए वेबमैनेजर "incometaxindia.gov.in"

  9. "www.irsofficersonline.gov.in" पर तथा आयकर महानिदेशक (एस) कॉर्नर पर अपलोडिंग के लिए डाटाबेस प्रकोष्ठ

10. आर्इटीबीए पोर्टल पर अपलोडिंग के लिए आर्इटीबीए प्रकाशक

11. वेबसाइट पर चस्पा करने के लिए वेबमैनेजर "incometaxindiaefiling.gov.in"

 

(रमेश कृष्णामूर्ति)

अतिरिक्त महानिदेशक (पद्धति)-3,