एफ. नं. 312/109/2015-ओटी

भारत सरकार

वित्त मंत्रालय

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीटी)

 

नर्इ दिल्ली, दिनांक 7 मार्च, 2016

 

कार्यालय ज्ञापन

 

विषय : आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 245 के अंतर्गत शेष मांग के सत्यापन के लिए संशेाधित समय-सीमा

 

संदर्भ समान क्रमांक दिनांक 29.01.2016 के कार्यालय ज्ञापन हेतु आमंत्रित किया है जिसके मार्फत उन मामलों में अनुसरित की जाने वाली प्रक्रिया जहां धारा 245 के अंतर्गत नोटिस को वित्त वर्ष 2015-16 के दौरान प्रसंस्करित किए जाने के लिए विवरणी को जारी किया गया है, को बोर्ड द्वारा निर्दिष्ट किया था। इसे संदर्भ के अंतर्गत ओ.एम. में निर्धारित किया था कि -

क) मामलों में जहां वह करदाता मांग का विरोध करता है, सीपीसी तीस दिनों के भीतर मांग हेतु उचित परिवर्तन करने के लिए अथवा पुष्ट करने के लिए उससे पूछने हेतु करदाता के तर्क के बारे में निर्धारण अधिकारी को अनुस्मारक जारी करेगा। यदि तीस दिनों के भीतर निर्धारण अधिकारी से कोर्इ प्रतिउत्तर प्राप्त नहीं होता है तो सीपीसी किसी समायोजन के बिना प्रतिदाय जारी करेगा। शेष बकाए, यदि हो, के समक्ष प्रतिदाय के गैर-समायोजन का उत्तरदायित्व निर्धारण अधिकारी के साथ निहित होगा।

ख) यदि जहां करदाता से कोर्इ प्रतिउत्तर न हो तो सीपीसी मांग के साथ या तो सहमत अथवा असहमत को पूछने के लिए करदाता को अनुस्मारक जारी करेगा तथा तीस दिनों के भीतर र्इ-दाखिल पोर्टल पर प्रतिवेदन को जमा करेगा। सीपीसी मांग को समायोजित करेगा तथा करदाता को शेष प्रतिदाय, यदि हो, जारी करेगा।

2. लंबित प्रतिदाय जो निर्धारिती के लिए स्वीकृत नोटिस के प्रतिवेदन के लिए 30 दिनों की समय सीमा तथा धारा 245 के अंतर्गत कार्यवाही का विषय हैं तथा समान समयावधि मांग को पुष्ट/सत्य करने के लिए निर्धारण अधिकारी हेतु स्वीकृत हैं, की बड़ी संख्या को देखते हुए, सत्यापित करने के लिए मांग तथा प्रतिदाय जारी करने के लिए अधिक समय ले रहा है जो शिकायतों की वृद्धि का कारण बनता है।

3. प्रतिदाय जो धारा 245 के अंतर्गत सत्यापन का विषय हैं, की स्पष्टता तथा लंबित मामलों को देखते हुए, यह निर्णय लिया गया है कि निर्धारिती के लिए 30 दिनों की समयसीमा तथा ओ.एम. दिनांक 29.01.2016 में निर्दिष्ट निर्धारण अधिकारी वर्तमान वित्त वर्ष की शेष अवधि में जारी किए जाने के लिए धारा 245 के अंतर्गत नोटिस के संदर्भ में 15 दिनों तक कम कर सकते हैं। यह प्रतिदायों के संग्रह को स्पष्ट करने का एक समय का परिमाप है तथा तद्नुसार 15 दिनों की सीमित समय-सीमा 31.03.2016 तक ही वैध होगी।

4. यह अध्यक्ष, केद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड के अनुमोदन के साथ

 

(सलील मिश्रा)

निदेशक (ओटी/डब्ल्यूटी)

टेलीफैक्स - 011-24101573

र्इ-मेल : salil.mishra@nic.in

 

समस्त प्रधान मुख्य आयकर आयुक्त/ प्रधान आयकर महानिदेशक

समस्त मुख्य आयकर आयुक्त/आयकर महानिदेशक

आयकर आयुक्त (सीपीसी-आर्इटीआर), बेंगलूरू

 

 

निम्न को प्रति :—

 

  1. अध्यक्ष, केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड तथा समस्त सदस्य

  2. समस्त संयुक्त सचिव एंव आयुक्त, केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड में

  3. प्रधान आयकर महानिदेशक (पद्धति) तथा प्रधान आयकर महानिदेशक (प्रशा.)

  4. अपर महानिदेशक (वसूली) तथा (पीआर, पीपी व ओएल)

  5. पोर्टल पर आधिकारिक ज्ञापन को चस्पा करने के लिए वेबमैनेजर irsofficersonline.gov.in तथा incometaxindia.gov.in

  6. भारतीय नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (30 प्रतियां)